Skip to content

राष्ट्रीय परिवार सहायता योजना

राष्ट्रीय परिवार सहायता योजना

                           राष्ट्रीय परिवार सहायता योजना एक ऐसी योजना है जो छत्तीसगढ़ सामाजिक सहायता कार्यक्रम के अंतर्गत क्रियान्वित की जा रही है।

छत्तीसगढ़ एक ग्रामीण अंचल बहुल प्रदेश है जहाँ अधिकांश ग्रामीण परिवेश में मजदूरी या रेजगारी या दिहाड़ी से परिवार का गुज़ारा चलता है । दैनिक वेतनभोगी कर्मचारी भी अपनी सीमित आमदनी में हीअपने बड़े परिवार का भरण पोषण करते हैं । 

ऐसी स्थिति में कमाऊ मुखिया की अकस्मात मृत्यु से पूरे परिवार के आय के स्रोत पर प्रभाव पड़ता है और पूरे परिवार की व्यवस्था डगमगा जाती है । 

इस प्रतिकूल परिस्थिति की समस्या को समझते हुए सरकार ने राष्ट्रीय परिवार सहायता योजना का शुभारंभ किया ताकि पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई जा सके।  

किसी प्राकृतिक या अप्राकृतिक कारण से किसी ऐसे व्यक्ति की मृत्यु हो जाए जो अपने परिवार के लिए आमदनी का मुख्य स्रोत रहा हो ,ऐसी स्थिति में राष्ट्रीय परिवार सहायता योजना के तहत उस परिवार को आर्थिक सहायता मुहैया करवाई जाती है । 

राष्ट्रीय परिवार सहायता योजना

राष्ट्रीय परिवार सहायता योजना

ग्राम पंचायत व स्थानीय नगरीय निकायों का यह दायित्व निर्धारित किया गया है कि किसी व्यक्ति की मृत्यु की सूचना मिलते ही सहायता के लिए पात्र परिवार से संपर्क कर उनसे आवेदन भरवाएँ । 

आवेदन प्राप्त होते ही ग्राम पंचायत आवश्यक जाँच कराकर अपनी अनुशंसा जनपद पंचायत को प्रेषित करें ताकि जल्द से जल्द सहायता प्रक्रिया आगे बढ़ सके । 

सहायता स्वीकृति के अधिकार ग्रामीण क्षेत्र में जनपद पंचायत एवं नगरीय क्षेत्र में स्थानीय निकायों को स्थानांतरित किए गए हैं । 

स्वीकृतिकर्ता संस्था के लिए 3 सप्ताह के भीतर स्वीकृति/अस्वीकृति का निर्णय लेना अनिवार्य है । 

दुर्घटनावश मृतु की स्थिति में स्वीकृतिकर्ता संस्था को पुलिस थाने से पुष्टि कराना आवश्यक होगा ।

राष्ट्रीय परिवार सहायता योजना के लाभ हेतु आवश्यक स्थितियाँ :

  • परिवार गरीबी रेखा से नीचे सूचीबद्ध हो और जिसके मुखिया की किसी कारणवश मृत्यु हो गई हो । 
  • मृतक परिवार की आय का मुख्य स्रोत रहा हो । 
  • मृत्यु की तिथि को मृतक की आयु 18 वर्ष से अधिक एवं 65 वर्ष से कम रही हो । 

आवश्यक बिन्दु :

पति,पत्नी,अवयस्क बच्चे,अविवाहित पुत्रियाँ ,आश्रित माता-पिता परिवार में सम्मिलित माने जाएँगे । 

यदि परिवार में एक से अधिक धनार्जन करने वाले हों तो ऐसे सदस्य की मृत्यु पर ही सहायता की पात्रता होगी जिसकी आय का परिवार की आय में सर्वाधिक योगदान हो । 

राष्ट्रीय परिवार सहायता योजना हेतु आवश्यक दस्तावेज़ :

  • गरीबी रेखा से नीचे सूचीबद्ध होने का प्रमाण पत्र 
  • मृतक का मृत्यु प्रमाण पत्र 
  • मृतक की आयु पुष्टि करने हेतु मतदाता पत्र या आधार कार्ड 

 

राष्ट्रीय परिवार सहायता योजना के लाभार्थ 

आवेदन कैसे और कहाँ :

मुद्रित आवेदन पत्र शहरी क्षेत्र में नगर निगम / नगर पालिका / नगर पंचायत 

ग्रामीण क्षेत्र की दशा में ग्राम पंचायत 

दोनों जगहों पर उपलब्ध होंगे , मुद्रित आवेदन पत्र उपलब्ध न होने की दशा में सादे कागज़ पर निर्धारित प्रारूप में आवेदन पत्र दिया जा सकेगा । 

राष्ट्रीय परिवार सहायता योजना

                                  राष्ट्रीय-परिवार-सहायता-योजना

प्राप्त होने वाली धनराशि :

रू 20,000 /- एकमुश्त 

चयन प्रक्रिया :

शहरी क्षेत्र से संबन्धित हो तो नगर निगम / नगर पालिका / नगर पंचायत 

ग्रामीण क्षेत्र से संबन्धित हो तो ग्राम पंचायत 

आवश्यक जाँच पड़ताल के बाद अनुशंसा के साथ आवेदन पत्र संबन्धित जनपद पंचायत को अग्रेषित करेंगी । 

भुगतान :

स्वीकृति आदेश जारी होने के तत्काल बाद राष्ट्रीय परिवार सहायता हेतु जिला पंचायत द्वारा जनपद पंचायत /नगरीय निकाय को उपलब्ध कराई गई राशि में से संबन्धित निकाय के मुख्य कार्यपालन अधिकारी अकाउंट पेयी /ऑर्डर चेक द्वार आवेदक को राशि का भुगतान करेंगे ।

यह चेक आवेदक के पते पर रैजिस्टर्ड डाक द्वारा भेजा जाएगा ।

अपवाद स्वरूप ,जहां दस किलोमीटर की परिधि में कोई बैंक की शाखा नहीं है वहाँ आवश्यकता अनुसत जनपद पंचायत द्वारा पोस्ट ऑफिस बचत खाते के माध्यम से भी राशि का भुगतान किया जा सकता है । 

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें : https://sw.cg.gov.in/sites/default/files/nfbs_1.pdf

राष्ट्रीय परिवार सहायता योजना

                                            राष्ट्रीय परिवार सहायता योजना

Leave a Reply

Your email address will not be published.